Monthly Archives: January 2019

कार्य ही नहीं व्यवहार भी है चिकित्सक की पहचान

ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में आर्ट ऑफ लिविंग के सहयोग से यूथ एम्पावरन्मेंट एंड स्किल यस प्लस ट्रेनिंग प्रोग्राम के तहत छात्र...

 तकधिना धिनः सपने हैं, हौंसला है और ऊंची उड़ान के लिए पंख भी…

लक्खीबाग इलाके की तंग गलियों में रहने वाली दस साल की कंचन आईपीएस बनना चाहती है। उसकी कल्पना, उसके सपने को यर्थार्थ में बदलने...

सपनों के साथ याद बनती सड़कें !

जे. पी. मैठाणीसड़कें धूल, मिटटी, गारे और फिसलन से भरी दौड़ती रही - भागती रही - भागती रही और दौड़ती रही .. समय के साथ और कभी उसको...

तक धिनाधिनः आगे बढ़ने दो

नीलम उम्र यही कोई 12-13 साल, कहानियां और कविताओं में किसी अनुभवी लेखक जैसा भाव। चार साल पहले देहरादून आई नीलम क्लास आठ की...

मेरे गांव की सड़क

एक वक्त जब नहीं थी मेरे गांव में सड़क मुश्किलों से भरा होता था रास्ता और धार* के उस पार थे बाज़ार , हस्पताल और सड़कतब मेरे गांव...

एम्स ऋषिकेश में है सर्विक्स कैंसर जांच की सुविधा

ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में मासिक जनजागरूकता अभियान के तहत महिला रोगियों और उनके तीमारदारों को सर्विक्स कैंसर के प्रति जागरूक...

वो अजनबी…यादों के झरोख़ों से.. 

"दीदी की ग्लूकोज़ बोतल चेंज करनी है।" नर्स रुम में जाकर मैंने वहाँ अकेले बैठे एक इन्टर्न डॉक्टर से कहा। "ओके"...

लघु कथाः नया साल मुबारक हो

अनीता मैठाणीसड़क पर भीड़ अन्य दिनों की अपेक्षा अधिक थी, पर उसे इससे किंचित भी सरोकार ना था। उसे तो रोज की तरह...