उत्तराखंड के चिपको आंदोलन पर गूगल का डूडल

0
114
26 मार्च 2017 की फोटो- उत्तराखंड के चमोली स्थित रैंणी गांव में चिपको आंदोलन की प्रणेता गौरादेवी काे याद किया गया।

उत्तराखंड की अमूल्य निधि यहां के वनों की रक्षा के लिए विश्वविख्यात चिपकाे आंदोलन की प्रणेता मातृशक्ति गौरा देवी को नमन। सर्च इंजन गूगल ने उत्तराखंड के सबसे प्रसिद्ध चिपको आंदोलन को 26 मार्च का डूडल समर्पित किया है। वनों की रक्षा के लिए दुनिया में यह अपनी तरह का सबसे अनोखा आंदोलन था।

इस आंदोलन ने पेड़ों की रक्षा के लिए पूरे विश्व को ‘अंग्वाल‘ यानि चिपको का मूल मंत्र दिया था। 26 मार्च के दिन 1974 को उत्तराखंड के चमोली के रैणी गांव की ऋषि गंगा घाटी में हरे भरे वनों को बचाने के लिए रैंणी गांव की गौरा देवी और उनके साथ 26 महिलाओं ने अपने गांव के हरे भरे वनों को ठेकेदार के हथियारबंद मजदूरों के हाथों कटने से बचाया था।

LEAVE A REPLY