संवासनियों के जीवन में सुुधार के लिए सरकार ने किए दो समझौते

0
983

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की उपस्थिति में मुख्यमंत्री आवास में हंस फाउंडेशन व उत्तराखण्ड सरकार के मध्य दो एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। पहले एमओयू के अंतर्गत हंस फाउंडेशन शिशु गृह बालिका निकेतन, अल्मोड़ा के लिए एक बस उपलब्ध कराएगा। एमओयू पर राज्य सरकार की ओर से जिला प्रोबेशन अधिकारी राजीव नयन व हंस फाउंडेशन की ओर से अधिशासी निदेशक जीबी राव ने हस्ताक्षर किए।

दूसरे एमओयू के तहत नारी निकेतन, केदारपुरम की 810 संवासिनियों के समूह को समाज से जोड़ने के लिए सामाजिक परिवेश में आवास उपलब्ध कराया जाएगा। यह योजना पायलट प्रोजक्ट के रूप में शुरू की जा रही है। इस एमओयू पर निदेशक महिला कल्याण मेजर योगेन्द्र यादव व सीईओ हंस फाउंडेशन लेफ्टिनेंट जनरल एसएन. मेहता ने हस्ताक्षर किए।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि संवासिनियों को समाज के साथ रखने से उनके जीवन में बहुत जल्दी सुधार आएगा। वह मानसिक रूप से भी खुद को इस समाज का हिस्सा समझेंगी। उन्होंने कहा कि यह एक बहुत अच्छी पहल है और नारी निकेतन में रह रही बहनों के लिए यह एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इससे पहले मुख्यमंत्री रावत की अध्यक्षता में शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में ‘उत्तराखंड2020‘ हेतु गठित स्टेट लेवल स्टीयरिंग कमिटी की बैठक हुई।

बैठक में तीन जनवरी 2018 को स्टीयरिंग कमिटी की चौथी बैठक का कार्यवृत्त प्रस्तुत किया गया। ‘उत्तराखंड 2020‘ की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना के अन्तर्गत हिमाद्री हंस हैंडलूम नाम से तैयार उत्पादों के आउटलेट्स बढ़ाए जाएं। विशेष रूप से देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश और मसूरी में इसके उत्पादों को अच्छा बाजार मिलेगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड इम्पोरियम सहित अन्य संस्थाओं द्वारा संचालित आउटलेट्स से भी जोड़ा जा सकता है।

बैठक में बताया गया कि उत्तराखंड के अंतर्गत सैनिटेशन के क्षेत्र में वृह्द रूप से कार्य किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत लगभग 5000 इंडिविजुअल और 300 पब्लिक टॉयलेट बनाए जा रहे हैं। इनमें से 3700 हरिद्वार और देहरादून में तैयार कर लिए गए हैं। 95 स्कूलों के मॉडर्नाइजेशन के अन्तर्गत 10 स्कूलों में 20 स्मार्ट क्लासेस स्थापित कर दी गई हैं।

37 स्कूलों में टॉयलेट का निर्माण शुरू कर दिया गया है। सरकारी स्कूलों में बच्चों को भोजन उपलब्ध करवाने के लिए दो सेंट्रलाइज्ड किचन की स्थापना और चार के लिए जगह का चिन्हीकरण कर लिया गया है। पिथौरागढ़ में आईसीयू की स्थापना कर दी गयी है। पौड़ी में आईसीयू की स्थापना के लिए काॅन्ट्रैक्ट साइन कर लिया गया है।

घरेलू विद्युतीकरण के तहत पांच जिलों बागेश्वर, पिथौरागढ, नैनीताल, ऊधमसिंह नगर एवं हरिद्वार में 2200 से अधिक घरों को सोलर सिस्टम उपलब्ध करा दिए गए हैं। इस अवसर पर महिला कल्याण एवं बाल विकास राज्य मंत्री रेखा आर्या, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, सचिव मुख्यमंत्री राधिका झा, सचिव स्वास्थ्य नितेश झा एवं सीईओ हंस फाउंडेशन लेफ्टिनेंट जनरल एसएन मेहता आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY