10.3 C
Dehra Dun
Friday, February 21, 2020
Tags Motivational story

Tag: motivational story

लघु कथाः नया साल मुबारक हो

अनीता मैठाणी सड़क पर भीड़ अन्य दिनों की अपेक्षा अधिक थी, पर उसे इससे किंचित भी सरोकार ना था। उसे तो रोज की तरह...

तक धिनाधिन में कहानियों संग पर्यावरण पर बातें

मानवभारती की प्रस्तुति  तक धिनाधिन  का सफर आगे बढ़ रहा है। एक बार फिर हम नियो विजन के बच्चों के साथ कहानियों को साझा कर रहे...

मारा गया मूर्ख चूहा

एक बिल्ला, जिसने युवावस्था में बहुत सारे चूहों को पकड़ कर खाया था, अब बूढ़ा हो चुका है। उसमें पहले जैसी फुर्ती नहीं है।...

पछताना पड़ा नकलची कौए को

बहुत पुरानी बात है। पहाड़ पर एक बाज रहता था। वहीं पहाड़ की तलहटी पर एक बरगद का पेड़ था, जिस पर एक कौआ...

लोमड़ी का बहाना और भेड़िये की आफत

किसी जमाने की बात है एक व्यक्ति बैलगाड़ी लेकर जा रहा था, उसमें बहुत सारी मछलियां थीं। तभी एक लोमड़ी वहां से गुजर रही...

लालची कौए की कहानी

एक समय की बात है। किसी शहर में एक कबूतर ने किचन के पास अपना घोंसला बनाया हुआ था। इस किचन में खाना बनाने...

वह है हिन्दी

हेमचंद्र रियाल एक लड़की अपना घर परिवार छोड़कर आ जाती है। वह युवा है, सुंदर है, लावण्यता है उसमें। पहली बार मिली वह हिन्दी...

बकरे की सलाह

एक व्यक्ति के पास एक गधा और एक बकरा थे। वह गधे पर बहुत सारा सामान लाद कर गांव-गांव घूमता और सामान बेचता। गधा...

गरीब व्यापारी और भुलाने वाली जड़ी

एक गरीब व्यापारी था, जो व्यापार के सिलसिले में अपने शहर से बाहर था। रास्ते में रात होने पर वह एक सराय में रुक...

बीमार ऊंट और रिश्तेदार

एक ऊंट था, जो बीमार पड़ गया। वह अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से दूर नखलिस्तान में रहता था। नखलिस्तान मतलब रेगिस्तान का ऐसा हिस्सा,...

तितली ! सभी शूलों को फूल होने दो…

उमेश राय तितली ! सभी शूलों को फूल होने दो.... परिवर्तन सतही नहीं,आमूल-चूल होने दो. सीखने दो बच्चों को सहज- सरल ही, कभी-कभी इनसे तो भूल होने दो. वटवृक्ष ! टहनियों को...

मछुआरा और बिजनेसमैन

एक दिन एक मछुआरा समुद्र तट की रेत में लेटा हुआ धूप का आनंद ले रहा था। मछलियां पकड़ने का जाल उसके पास ही...