दो छोटी कहानियां

0
125

सितारों संग खेलती मछलियां

एक रात एक छोटा बच्चा सो नहीं रहा था। वह बिस्तर पर बैठा हुआ था। मां ने उसको सुलाने की काफी कोशिश की, लेकिन वह अभी भी जाग रहा था। मां उसको घर की खिड़की पर ले गई और उसे आसमान में चमकते तारे दिखाए।

मां ने उसको सितारों के बारे में कुछ कहानियां सुनाने का निर्णय लिया। मां ने कहानी सुनाई कि दो छोटे तारे थे, जो गहरे नीले समुद्र में दो मछलियों के साथ खेलते थे। वहीं दो मेंढ़क भी थे, जो पूरी रात टर्र टर्र की आवाज निकालते।

इसी तरह हम एक छोटे बच्चे को भी देख रहे हैं, जो रात होने पर भी जाग रहा है और इस बच्चे को अब सो जाना चाहिए।मां से कहानियां सुनकर बच्चा खुश था। जल्द ही मां की गोद में उसको नींद आ गई। यह कहानी हमें बताती है कि जब आपको सोने का समय हो, आपको सो जाना चाहिए।

मुर्गे ने बचाई अपनी जान

किसी दूर देश में एक मुर्गा अपने मालिक और उनकी पत्नी के साथ रहता था। हर सुबह मुर्गा बहुत तेज कुकड़ु कू, कुकड़ु कू की आवाज निकालता,जिससे उसके मालिक व उसकी पत्नी की नींद टूट जाती। इससे वो दोनों मुर्गे से नाराज हो गए।

एक दिन मुर्गे ने सुना कि उसका मालिक और पत्नी उसे डिनर के लिए मारना चाहते हैं। वह काफी डर गया, लेकिन उसने फैसला किया कि अब यहां नहीं रहेगा। उसने जल्दी से मालकिन के शूज और मालिक की स्टिक उठाई औऱ वहां से भाग लिया। वह दूर जंगल में भाग गया। वह पहले से काफी खुश और संतुष्ट है। (अनुवादित)

 

LEAVE A REPLY